All Events

मासिक भण्डारा , भजन कीर्तन एवं फ्री मेड़िकल कैम्प

परम पिता परमेश्वर ने इस भौतिक जगत् में सुखमय मानव जीवन की कल्पना करते ही इसका आधार बनाया माँ बाप को , क्योकि माँ-बाप के विना मानव-जन्म सम्भव न था । मानव-जीवन को शुरू से अन्त तक स्वस्थ व समृद्ध बनाने के लिए बनाया गौमाता को | ऐसे हुई शुरूआत मानव जीवन की, जिसका आधार बने माँ-बाप और सुपोषण करने वाली गौमाता। अपने माता-गिता के प्रति अत्याधिक आदरभाव त था गौभाता के प्रति अटूट प्रेम के कारण श्री ज्ञान चन्द वालिया जी के दिमाग में बार-बार विचार आता कि जब परमात्मा को इतनी सुन्दर परिकल्पना का परिणाम है माँ-बाप और गौमाता, तब ये असहाय और बेबस क्यों? इनकी बेबसी के चलते मानव-जीवन सुखी कैसे हो सकता है?
View Event
  • Date: 6th January, 2019
  • Time: 9:00AM
  • Location: गाँव खलौर

मासिक भण्डारा , भजन कीर्तन एवं फ्री मेड़िकल कैम्प

परम पिता परमेश्वर ने इस भौतिक जगत् में सुखमय मानव जीवन की कल्पना करते ही इसका आधार बनाया माँ बाप को , क्योकि माँ-बाप के विना मानव-जन्म सम्भव न था । मानव-जीवन को शुरू से अन्त तक स्वस्थ व समृद्ध बनाने के लिए बनाया गौमाता को | ऐसे हुई शुरूआत मानव जीवन की, जिसका आधार बने माँ-बाप और सुपोषण करने वाली गौमाता। अपने माता-गिता के प्रति अत्याधिक आदरभाव त था गौभाता के प्रति अटूट प्रेम के कारण श्री ज्ञान चन्द वालिया जी के दिमाग में बार-बार विचार आता कि जब परमात्मा को इतनी सुन्दर परिकल्पना का परिणाम है माँ-बाप और गौमाता, तब ये असहाय और बेबस क्यों? इनकी बेबसी के चलते मानव-जीवन सुखी कैसे हो सकता है?
View Event
  • Date: 6th October, 2016
  • Time: 9:00AM
  • Location: गाँव खलौर

मासिक भण्डारा , भजन कीर्तन एवं फ्री मेड़िकल कैम्प

परम पिता परमेश्वर ने इस भौतिक जगत् में सुखमय मानव जीवन की कल्पना करते ही इसका आधार बनाया माँ बाप को , क्योकि माँ-बाप के विना मानव-जन्म सम्भव न था । मानव-जीवन को शुरू से अन्त तक स्वस्थ व समृद्ध बनाने के लिए बनाया गौमाता को | ऐसे हुई शुरूआत मानव जीवन की, जिसका आधार बने माँ-बाप और सुपोषण करने वाली गौमाता। अपने माता-गिता के प्रति अत्याधिक आदरभाव त था गौभाता के प्रति अटूट प्रेम के कारण श्री ज्ञान चन्द वालिया जी के दिमाग में बार-बार विचार आता कि जब परमात्मा को इतनी सुन्दर परिकल्पना का परिणाम है माँ-बाप और गौमाता, तब ये असहाय और बेबस क्यों? इनकी बेबसी के चलते मानव-जीवन सुखी कैसे हो सकता है?
View Event
  • Date: 6th October, 2016
  • Time: 9:00AM
  • Location: गाँव खलौर